RAJASTHAN GK QUESTION ANSWER PART 2



Q.1 राजपूताना कीकिस एकमात्र रियासतके साथ अंग्रेजोने बाइबिल कोसाक्षी मानकर सन्धिकी थी -
A. करौली
B. अलवर
C. भरतपुर✔️
D. धौलपुर
Answer (c)

विशेषता:- 18वी सदीमें दो बड़ीऐसी घटनाएं हुईं, जिन्होंने अंग्रेजसरकार को हिलादिया था। इनमेंपहली घटना सन्1805 में उस समयहुई जब अंग्रेजोंको भरतपुर मेंहार का सामनाकरना पड़ा। इससेअंग्रेजों कोमुंह की खानीपड़ी थी।इसके बादउन्होंने तत्कालीनरियासत (शासन) केसाथ संधि की।देश में यहीएक मात्र ऐसीसंधि है, जिसमेंअंग्रेजों नेबाइबिल को साक्षीमानने का जिक्रकिया। ताकि भरतपुरके तत्कालीन शासनको उनकी बातपर भरोसा होसके। इतिहासकार रामवीरसिंह वर्मा बतातेहैं कि उससमय जिन-जिनरियासतों केसाथ अंग्रेजों नेसंधियां कीं, उनमें कहीं भीबाइबिल को साक्षीमानने का जिक्रनहीं मिलता है।इसी तरह दूसरीघटना भरतपुर रियासतके अधीन अडींगमें सन् 1857 कीक्रांति केसमय हुई थीजब राजपूत आंदोलनकारियों ने अपनेहौसले के दमपर अंग्रेजों कीनाक में दमकर दिया था।

Rajasthan-gk-question-answer-part-2


Q2. जयपुर कोगोल्डन बर्ड’(सुनहरा पक्षी) की संज्ञा किसने दी थी -
A. टाॅमस रो
B. रानी विक्टोरिया
C. कर्नल टाॅड
D. एडवर्ड पंचम✔️
Answer (d)

विशेषता:- सवाई रामसिंह द्वितीयके शासनकाल मेंब्रिटेन केराजकुमार एडवर्डपंचम के आगमनके समय जयपुरशहर को 1868 . में गुलाबी रंगसे रंगवाया गया, जिसके कारण इसेगुलाबी शहर (पिंकसिटी) के नाम सेजाना गया। रामसिंहद्वितीय केशासनकाल मेंजयपुर के लिएपिंक सिटी शब्दका सर्वप्रथम प्रयोगब्रिटिश पत्रकारस्टेनलेरीड नेअपनी पुस्तक रॉयलटूर टू इण्डियाकिया तथा भारतके प्रसिद्ध वैज्ञानिकसी.वी रमनने जयपुर कोरंगश्री द्वीपकी संज्ञा प्रदानकी।


Q3. किस शिलालेख मेंविप्रः श्रीवस्तगोत्रेभूत्शब्द का उल्लेख हुआ है -
A. बिजौलिया शिलालेख✔️
B. घोसुण्डी शिलालेख
C. घटियाला शिलालेख
D. मानमोरी शिलालेख
Answer (a)

विशेषता:- बिजोलिया मेंउपलब्ध लेख संस्कृतभाषा में है।इसमें 13 पद्य हैं।इसमें मन्दिर निर्माणकी जानकारी केसाथ-साथ सांभरऔर अजमेर केचौहान वंश केशासकों की उपलब्धियोंका भी प्राचीनउल्लेख किया गयाहै। इस लेखकी मुख्य विशेषतायह है किइसमें चौहानों केलिए विप्रः श्रीवत्सगोत्रेभूत अंकन हुआहै, जिसके आधारपर डॉ. दशरथशर्मा ने चौहानोंको ब्राह्मण वंशकी संतान सिद्धकिया है। कायमख़ाँ रासो तथाचन्द्रावती केलेख भी चौहानोंको ब्राह्मण वंशीयलिखते हैं।

Q4. मुहणोत नैणसी कोराजस्थान का अबुल फजलकिसने कहा -
A.  गोपीनाथशर्मा
B. दशरथ शर्मा
C. मुंशी देवीप्रसाद✔️
D. गौरीशंकर हीरानन्दओझा
Answer (C)

विशेषता:- मशी देवी प्रसादने नैणसी कोराजपूताने काअबुल फजल कहाहै। इन्होंने दोमहत्वपूर्ण ग्रंथोंकी रचना किथी। एक कानाम ‘‘मुंहणोत नैणसीरी ख्यात’’ औरदूसरे का नाम‘‘मारवाड़ रा परगनारी विगत’’ है।यह दोनों इतिहासके स्त्रोत मेंविशिष्ट महत्वरखते है। नैणसीका ‘‘मारवाड़ रापरगना री विगत’’ राजस्थान कीऐतिहासिक-सांख्यिकीअर्थात् गजेटीयरहै। इसमें गावोंऔर परगनों कीउत्पति के साथ-साथ उनके ऐतिहासिक-भूगोल का हवालाप्रदान कर नैणसीने ‘‘विगत कामहत्वपूर्ण सूचना-स्त्रोत केरूप में प्रतिष्ठितकिया है। इसीलियेइसे ‘‘गांवा रीख्यात’’ भी पुकाराजाता है।

Q5. ‘अपोलोडोट्सका सिक्का किस पुरातत्विक स्थल से मिला है -
A. बैराठ
Bरैढ✔️
C. नलियासर
D. सुनारी
Answer (B)    

विशेषता:- टोंक जिले मेंस्थित रेढ कीसभ्यता से लगभग3075 चांदी के पंचमार्क सिक्के मिलेहैं  जो एक हीस्थान से मिलेसिक्कों कीसबसे बड़ी संख्याहै। लौहे केभण्डार प्राप्त हुएहैं। इस कारणइसेप्राचीन भारतका टाटानगरकहाजाता है।

Q6. किस जनजाति में मृत व्यक्ति के स्मारक पर बनी मूर्ति कोआगडकहा जाता है -
A. भील✔️
B. मीणा
C. गरासिया
D. सहरिया
Answer (A)

Q7. महाराणा सांगा की पत्नी कर्मावती द्वारा निर्मित महलअधूरा स्वप्नकिस दुर्ग में स्थित है -
A. मांडलगढ़ दुर्ग
B. कुम्भलगढ़ दुर्ग
C. चित्तौड़गढ़ दुर्ग
D. रणथम्भौर दुर्ग✔️
Answer (d)

अधूरा स्वप्नरानीकर्मावती द्वारारणथम्भौर केकिले में निर्मितभवन। पुष्पक भवनहम्मीर द्वारा अपनीमालवा विजय कीस्मृति में इसदुर्ग के भीतरइस तीन मंजिलेभवन का निर्माणकरवाया था।

Q8. अकबर की बन्दूक का नाम क्या था, जिससे अकबर ने चित्तोड़ दुर्ग रक्षक जयमल को घायल किया -
A. संग्राम✔️
B. बीठली
C. बिजली
D. हुंकार
Answer (A)

विशेषता:- अकबर की सेनाने जब चित्तोड़पर आक्रमण कियातो,उदयसिंह चित्तोड़की रक्षा काभार सेनापति जयमलराठौड़ वीरफत्ता सिसोदिया केउपर छोड़ कुछकारणवश जंगलों मेंचले गए, ओरअकबर की सेनाकरीब 8 महिनों तककिले में प्रवेशकरने में असफलरहे,1568 में जयमलराठौड़ को रातमें किले कीमरम्मत करते समयसंग्राम नामकबंदूक से गोलीलगने से घायलहो गए,येदिन में युद्धकरतें रातों-रात किले केकी दिवारो कोयुद्ध से टूटजाने पर दुरस्तकर दते थे।जब इन्हें लगाअब हमें अन्तिमलड़ाई लड़नी हैया तो जीतया हार,तोजयमल फत्ताके नेतृत्व मेंराजपूतों नेकेसरिया कियातथा फत्ता कीपत्नी फूलकंवर केनेतृत्व मेंचित्तोड़ कीमहिलाओं नेजोहर किया,यहमेवाड़ का तृतीयवर्ष अन्तिम साकाथा,इस युद्धमें जयमल राठौड़घायल हो गएफिर भी वहअपने भतिजे वीरकल्ला जी राठौड़के कंधे परसवार होकर अंतिमसमय तक लड़तेरहे,वीर कल्लाजी को चारहाथो वाला देवताकी उपाधि मिली,इस युद्ध मेंअकबर सेनापति जयमलराठौड़ वीरफत्ता सिसोदिया कीवीरता से खुशहोकर आगरा किलेके बाहर गजारूढमुर्ति बनवाने काआदेश देते हैं, जिन्होने राजाकी अनुपस्थिति मेंराष्ट्र कीरक्षा हेतु अपनेप्राणों काबलिदान किया।

Q9. किस बूंदी नरेश ने अपने जीवन काल में ही अपनी स्वर्ण प्रतिमा बनवाकर उसका दाह संस्कार करवा दिया था -
A. राव बुद्धसिंह
B. राव बरसिंह
C. राव उम्मेदसिंह✔️
D. राव भावसिंह
Answer (C)

Q10. सांभर झील से बनने वाले नमक को सुश्रुत संहिता में किस नाम से सम्बोधित किया गया -
A. सांभरी
B. रोमक✔️
C. लवण
D. रचक

Related Articals

Post a Comment